आँधियों को तू ज़रा इशारा तो कर

तू ज़र्रा है ज़मीन का, आसमान से शिकायत न करकरना है कुछ अगर तो आँधियों को इक ईशारा तो करतिनका है तू फिर तो क्या हुआतू भी कुछ देर आसमान को चूमेगाशायद समझ आ जाये कुछ उन ताज पोशों को भीजो बैठ गए है जाके आसमान में ख़ुदा बन कर फ़ितरत तेरी तू बदल कर […]

I condemn your God!

Just a note before we begin, shall we : – Father to his child: There will be things you ask of me, there will be things I won’t be able to provide. There will be questions you ask of me, there will be answers I won’t be able to explain. There will be times you […]

ज़रा सा…

ज़रा सा तू भी है मुझ में और ज़रा मुझ में गुरूर भी है तुझे बदलना आसान नहीं और मुझे बदलना अब जरूर ही है हिम्मत तू भी दिखा थोड़ी थोड़ा ज़ोर मै भी लगाता हूँ दुनिया से लड़ पाऊ या न सही तुझ में ही थोड़ा जोश जगाता हूँ बिगड़ी हर बात तो बना […]

memories

| मिलता नहीं है सुकून कही, बस एक तेरे आशियाने के सिवा हर तरफ मेरे महफिले है , ढूंढ रहा हूँ मै तनहाइयाँ रुक के कहा ठेहरु मैं दो पल, इन् काफिलों के सिवा रूठ गया ख़ुदा मुझसे .. लौट गयी मेरी परछाइयां वक़्त ने ही लिया, वो ही अब लौटाएगा बच के मेरा खुदा […]

क्योंकि जानते है हम ..

तुफानो से डरते नहीं है हम मगर गहराईयों में हम जा नहीं सकते डूब जाने का गम नहीं हुआ हमे क्योंकि जानते थे हम .. हम कभी पार जा नहीं सकते राहो में खड़े है हम बरसो से मगर और अब आगे जा नहीं सकते ग़ुम हो जाने का गम नहीं हुआ हमे क्योंकि जानते थे हम .. हम कभी […]

Jimmy the boy!

There was no crowd around now, like when it all happened People gathering around to see till the blood was blackened Now stood only a nine year old boy, who lost everything he had lay in grave was a friend, a guardian who he called ‘Dad’.                   […]

The Hunger

He always wondered how it would feel to sleep with a full stomach someday. He never truly had enough for one fill a day. Poor little Mahua, a rag-picker on city streets had his last bite from a fowl looking piece of bread wrapped in newspaper. But that fine morning God had his own plans for […]

This is the war I chose…

I stood there once and did nothing, what followed still gives me nightmares. Yes! I was there, that horrible place, that dark night, when it all happened. I was there when first time he raised the voice. I was there when he shouted loudly. I was there when he raised his fist punching high. I […]

जीना महंगा है मेरा और जिंदगी सस्ती

  गुजर रहा था मैं वहाँ से , जहां से गुजर रही थी जिंदगी भी यूँ तो लफ्ज़ थे अभी भी कुछ बयां करने को मगर मैं भी ज़रा जल्दी में था और ज़रा जल्दी में थी जिंदगी भी   कुछ बारिश करती शरारत हमारे साथ, कुछ कुदरत की थी छेड़खानी खुले आसमा की थी […]